एनसीआरदिल्ली

फिलहाल रिलायंस के कर्मी ही देंगे सेवा

02_07_2013-2metro2नई दिल्ली, – एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा मेट्रो ट्रेन चलाने से इन्कार के बाद सोमवार को दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने कमान संभाल ली है।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत एयरपोर्ट लाइन की ऑपरेशन व प्रबंधन से संबंधित सभी जिम्मेदारी रविवार मध्यरात्रि के बाद डीएमआरसी ने ले ली। एयरपोर्ट मेट्रो लाइन पर ट्रेनों के परिचालन को देखने के लिए डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक मंगू सिंह शिवाजी स्टेडियम मेट्रो स्टेशन पहुंचे। इसके बाद अधिकारियों के साथ एयरपोर्ट लाइन के सभी स्टेशनों का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि रिलायंस से एयरपोर्ट लाइन टेकओवर करने के बाद भी अभी अगले आदेश तक अधिकांश रिलायंस के कर्मचारी ही इस लाइन पर अपनी सेवा देंगे। डीएमआरसी ने पूरी लाइन के लिए सात अधिकारियों के साथ 100 कर्मचारियों की टीम को उतारा है। फिलहाल, वह सिर्फ प्रबंधन का काम देखेंगे।

 

साढ़े आठ हजार यात्रियों ने किया सफर

पहले की तरह ही एयरपोर्ट लाइन पर डीएमआरसी की देखरेख में सोमवार सुबह सवा पांच बजे पहली टेन नई दिल्ली से द्वारका सेक्टर-21 के लिए रवाना हुई। इसके बाद दिनभर 15 मिनट के अंतराल पर मेट्रो ट्रेन चली। शाम सात बजे तक इस लाइन पर 8500 लोगों ने सफर किया। जब रिलायंस इंफ्रा यहां मेट्रो चला रही थी तक एक दिन में औसतन दस हजार यात्रियों के सफर का रिकार्ड है।

 

रिलायंस से लिखित कुछ भी नहीं मिला

एयरपोर्ट लाइन की देखरेख किस तरह हो रही थी, रिलायंस ने मेट्रो सेवा शुरू करने से लेकर अभी तक कितना खर्च किया है, कितने अधिकारी व कर्मचारी अभी स्टेशनों पर तैनात हैं, डीएमआरसी के निदेशक शरत शर्मा के अनुसार अभी रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर की ओर से कुछ भी लिखित रूप में नहीं मिला है।

 

डीएमआरसी ही चलाएगी मेट्रो

शरत शर्मा ने बताया कि पीपीपी (पब्लिक, प्राइवेट, पार्टनरशिप) योजना के तहत 30 साल के लिए डीएमआरसी ने रिलायंस को एयरपोर्ट मेट्रो लाइन पर ट्रेन चलाने की जिम्मेदारी थी, लेकिन करार बीच में ही टूट गया तो अब आर्बिटेशन (मध्यस्थता) के बाद जो फैसला होगा, तब तक इस लाइन पर डीएमआरसी ही मेट्रो चलाएगी।

 

अभी काफी होमवर्क करना पड़ेगा

इस लाइन को मेट्रो की अन्य लाइन की तरह लोकप्रिय कैसे किया जाए, यात्रियों को और बेहतर सेवा कैसे दी जा सकती है, डीएमआरसी को अभी इस पर होमवर्क करना है। अगले कुछ दिनों तक डीएमआरसी का ध्यान सिर्फ इस लाइन पर ट्रेनों के ठीक तरह से ऑपरेशन व स्टेशनों के रखरखाव पर होगा।

 

प्रति माह चार करोड़ का हो रहा था घाटा

एयरपोर्ट मेट्रो लाइन पर रिलायंस को प्रतिमाह चार करोड़ नुकसान हो रहा था। डीएमआरसी के निदेशक शरत शर्मा ने बताया कि पूर्व में दी गई बैलेंसशीट के अनुसार एयरपोर्ट लाइन पर रिलायंस के प्रतिमाह सात करोड़ खर्च हो रहे थे व आमदनी सिर्फ तीन करोड़ थी।

NCR Khabar News Desk

एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews@ncrkhabar.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button