main news

खतरनाक है रक्षा में विदेशी निवेश बढ़ाने का फैसलाः एके ऐंटनी

antonyपूर्व रक्षा मंत्री एके ऐंटनी ने कहा है कि रक्षा क्षेत्र में 49 फीसदी एफडीआई का फैसला सरकार ने हथियार लॉबी के दबाव में लिया है। ऐंटनी ने कहा कि इस क्षेत्र में 100 फीसदी एफडीआई के लिए विभिन्न लॉबी दबाव बनाने के तरीके इस्तेमाल कर रही हैं और हमारी सरकार उन दबावों के आगे नहीं झुकी।

ऐंटनी ने कहा, ‘मैं जानता हूं कि एक बहुत मजबूत लॉबी काम कर रही है। वे रक्षा क्षेत्र में 100 फीसदी एफडीआई की मांग कर रहे हैं। 1991 के बाद से सरकारें इस दबाव से बचती आ रही हैं। हमने बहुत सोच-समझ कर यह फैसला लिया था कि इस क्षेत्र में विदेशी निवेश की सीमा 26 फीसदी से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।’ यूपीए सरकार में ऐंटनी को वाणिज्य मंत्रालय की ओर से कई बार एफडीआई की सीमा बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा गया था जिसे उन्होंने खारिज कर दिया था। नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पहले ही बजट में यह सीमा बढ़ाकर 49 फीसदी कर दी है। ऐंटनी ने इस प्रस्ताव के लिए सरकार की आलोचना की है। उन्होंने कहा, ‘रक्षा क्षेत्र में विदेशी निवेश 26 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी करने का प्रस्ताव राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक होगा।’

2014-15 का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि भारत रक्षा उपकरणों का सबसे बड़ा खरीददार है और उसकी घरेलू उत्पादन की क्षमता बहुत शुरुआती दौर में है। उन्होंने कहा कि देश अपनी ज्यादातर जरूरतें विदेशी खिलाड़ियों से सीधी खरीद के जरिए पूरी करता है।

ऐंटनी ने कहा कि विदेशी निवेश बढ़ाने के इस फैसले से धीरे-धीरे सारी भारतीय रक्षा उत्पादन कंपनियां बहुराष्ट्रीय विदेशी कंपनियों के नियंत्रण में आ जाएंगी और इन कंपनियों पर बहुत बड़ी ताकतों का नियंत्रण है। ऐंटनी ने कहा, ‘अब तक भारत एक स्वतंत्र विदेश नीति का पालन कर रहा था। हम दुनिया के सारे महत्वपूर्ण देशों के साथ दोस्ताना संबंध रखते हुए भी सैन्य संगठनों में शामिल होने से बचे रहे। हमने हमेशा इस बात का विशेष ख्याल रखा कि हम किसी भी सैन्य संगठन की ओर झुकते नजर न आएं।’ ऐंटनी ने कहा कि विदेशी निवेश आने से विदेशी ताकतों को भारत के अन्य देशों के साथ रक्षा सहयोग में दखल की परोक्ष ताकत मिल जाएगी।

NCR Khabar News Desk

एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews@ncrkhabar.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button