main newsभारतमहाराष्ट्र

मोदी अच्छे हैं तो गुजरात में ही रहें गुजराती: नितेश राणे

मुंबई।। महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री नारायण राणे के बेटे नितेश राणे ने गुजरातियों को मुंबई छोड़कर जाने का फरमान जारी किया है। ठाकरे बंधुओं के नक्शेकदम पर चलते दिखाई दे रहे नितेश को गुजरातियों से चिढ़ दो वजहों से है। गुजरातियों के शाकाहारी होने और ज्यादातर के नरेंद्र मोदी के समर्थक होने की वजह से वे नितेश राणे की आंखों में चुभ रहे हैं। नितेश के इस बयान को बीजेपी ने मुद्दा बना लिया है और राज्य सरकार से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

बयान पर बवाल के बाद नितेश शनिवार को सफाई देने के लिए मीडिया के सामने आए, लेकिन पुरानी बातें ही दोहराईं। उन्होंने कहा कि मैं अपने बयान पर कायम हूं और फिर कहता हूं कि जिन गुजरातियों को लगता है कि मोदी ने गुजरात में काफी विकास किया है उनको वहीं चले जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने किसी को भी मुंबई से निकालने की बात नहीं कही है। अगर गुजरातियों को लगता है कि वहां विकास हो रहा है, तो वे यहां क्यों आते हैं।

इससे पहले नीतेश ने बुधवार को ट्वीट किया था, ‘शाकाहारी आसमान, शाकाहारी अस्पताल, शाकाहारी हाउसिंग सोसायटी और शीघ्र ही शाकाहारी मुंबई! गुजराती गुजरात वापस जाएं अन्यथा वे मुंबई को गुजरात बना देंगे।.. रेड अलर्ट।’ बाद में अपना बचाव करते हुए नितेश ने कहा, ‘वे लोग इस शहर में रहते हैं और अपनी आजीविका यहीं से चलाते हैं, लेकिन वे मोदी और गुजरात के विकास मॉडल की सराहना करते हैं। ऐसे लोगों को मुंबई छोड़ देना चाहिए और गुजरात चले जाना चाहिए।’ नितेश को अमिताभ बच्चन से भी शिकायत है, क्योंकि वह गुजरात के ब्रैंड ऐंबैसडर हैं। नितेश कहते हैं कि नरेंद्र मोदी को बिग बी सहित सभी गुजरातियों को यहां से ले जाना चाहिए ताकि मराठी मानुष यहां आराम से घर खरीदकर रह रह सकें।

नितेश के बयान से मुंबई के गुजराती समाज में तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। मुंबई गुजराती समाज के अध्यक्ष एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता हेमराज शाह ने नितेश के बयान को संविधान के विरुद्ध बताते हुए सरकार से उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की मांग की है। बीजेपी की मुंबई इकाई के अध्यक्ष आशीष शेलार ने भी शुक्रवार को विधान परिषद में नितेश के बयान पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए उनपर कार्रवाई की मांग की है। शेलार ने कहा कि उनके ट्वीट से सामाजिक सौहार्द बिगड़ सकता है।

विधान परिषद में यह मुद्दा उठाते हुए शेलार ने कहा, ‘यह बयान महानगर में धार्मिक और सामाजिक टकराव पैदा करेगा। इसके साथ ही नितेश का बयान मोदी और गुजराती भाषी लोगों के प्रति अपमानजनक है।’ शेलार ने कहा कि मुंबई में विभिन्न जाति और संप्रदाय के लोग सौहार्द के साथ रहते हैं। नितेश के बयान से सामाजिक माहौल बिगड़ रहा है। राज्य सरकार को इस मुद्दे को गंभीरता से लेना चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। सरकार को इसपर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। इस पर जवाब देते हुए विधान परिषद के सभापति शिवाजीराव देशमुख ने सरकार को इस मामले में जरूरी कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

NCR Khabar News Desk

एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews@ncrkhabar.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button