उत्तर प्रदेश

CAT गड़बड़ी: यह जालसाज तो राजधानी का ही निकला

iim-kozhikode-51ce939b9eae3_lइंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट व कई बिजनेस स्कूल में दाखिले के लिए आयाजित होने वाली परीक्षा में खेल करने वाली कंपनी वेब वेवर्स का संचालक शजाउल हसन राजधानी का रहने वाला है। वह अमीनाबाद इंटर कॉलेज में कंप्यूटर टीचर है।

शजाउल ही इस कंपनी का कर्ता-धर्ता है। यह खुलासा इस बात से हुआ कि कंपनी उसकी पत्नी के नाम पर है। इस कंपनी के पास तीन साल से कैट की वेबसाइट www.catiim.in मेंटेन करने का जिम्मा है।

इस तरह यह साफ हो गया है कि शजाउल ही 80 स्टूडेंट्स के परसेंटाइल बढ़ाने के पीछे मास्टरमाइंड रहा है।

कई बड़े भी नपेंगे
कैट में सेंधमारी के मामले में वेब वेवर्स तो एक छोटी मछली है। इसके पीछे सफेदपोश, कोचिंग संचालक और बिजनेस स्कूलों के कुछ टीचर्स की भूमिका भी शक के दायरे में है।

इन्होंने ही संभवत: शजाउल हसन या फिर अफाक को लालच देकर सेंधमारी के लिए राजी किया और करोड़ों रुपये का खेल हुआ है।

हैरान हैं फेलो टीचर
शजाउल जिस कॉलेज में पढ़ाता था वहां के टीचर्स यह सच्चाई जानने के बाद हैरत में हैं। खास बात यह है कि इसी कॉलेज में उसके पिता भी टीचर थे। करीब 15 साल पहले शजाउल को कॉलेज में कंप्यूटर लैब का काम मिला था।

क्या कहना था धोखेबाज का
वेब वेवर्स के नाम आने के बाद भी वह कॉलेज आया था। साथियों से बातचीत में फर्जीवाड़े का सारा ठीकर अपने सहयोगी अफाक पर फोड़ते हुए शजाउल ने कहा था कि हम तो भरोसे में मारे गए।

घर में ताला, फोन नॉट रिचेबल
शजाउल का घर मोतीझील स्थि‌त पीली कॉलोनी में है जहां इन दिनों ताला लटका पड़ा है। शजाउल के दो नंबर मिले हैं जिसमें एक संभवतः उसके घर का है दूसरा उसका पर्सनल है।

दोनों ही नंबरों पर बहुत देर तक घंटी बजती रही लेकिन किसी ने नहीं उठाया। बाद में एक नंबर किसी महिला ने उठाया भी तो उसने कोई सूचना नहीं दी।

बाद में दोनों ही नंबर्स पहुंच से बाहर थे।

NCR Khabar News Desk

एनसीआर खबर.कॉम दिल्ली एनसीआर का प्रतिष्ठित और नं.1 हिंदी समाचार वेब साइट है। एनसीआर खबर.कॉम में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय,सुझाव और ख़बरें हमें mynews@ncrkhabar.com पर भेज सकते हैं या 09654531723 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं

Related Articles

Back to top button